बल्लारपुर पोलिस ने शराब का जखीरा पकडा !

25


उसी तरहसे एक अन्य मामले मे बल्लारपुर पुलिस दलने एक आरोपी से रिव्हाल्वर भी जब्त की !
बल्लारपुर पोलिस की काबिले तारीफ कामगिरी !
जिलेभरके थानों का पुलिस महकमा चुस्त ,
और मूल की पुलिस सुस्त ???

बल्लारपुर पुलिस के पोलिस निरीक्षक आसिफ राजा बी शेख और सहायक फौजदार गजानन डोईफोडे , पोलिस हवलदार रणविजय ठाकुर , पुरुषोत्तम चिकाटे , वशिष्ट रंगारी, शरदचंद्र कारूष, मिलिंद आत्राम , शेखर माथनकर , म .पो. अ. सिमा पोरेटे आदिने खुफिया जानकारी मिलने से राजेंद्र प्रसाद वार्ड मे एक राऊत सरनेम वाली महिला के घरपर छापा मारा तो उन्हें वहाँ अवैध शराब का जखीरा बरामद हुवा !
अलग अलग कंपनियों की देसी विदेसी शराब की बोतल जिनकी अंदाजीत कीमत २९, हजार २०० सौ रुपयों का माल जब्त किया गया !
यह कार्रवाही जिला पुलिस अधीक्षक श्री मुमक्का सुदर्शन ,अप्पर पुलिस अधीक्षक रीना जनबंधु , श्री दीपक साखरे उपविभागीय पुलिस अधिकारी ,राजुरा इनके मार्गदर्शन मे यह कार्रवाही की गई और उस महिला के खिलाफ गुनाह दर्ज किया गया !
उसी तरहसे एक अन्य मामले मे गुप्त सूचना के आधार पर संतोषी माता वार्ड , बल्लारपुर निवासी कुणाल सुरेश वर्मा २१ वर्ष को बल्लारपुर पुलिस ने अपने ताबे मे लेकर उसकी जांचपडताल करने पर एफ डी सी एम के गिरे हुवे जुने पुराने क्वॉर्टर में उसने छुपाकर रखी हुवी पुराने टाईप की लोहे की सिंगल बोर वाली रिव्हाल्वर जिसकी मुठ के पास लाल रंग का स्टार है वह उक्त आरोपी कुणाल वर्मा के पास से जब्त की गई ! आरोपी के खिलाफ गुनाह क्र .६२६ / २०२४ कलम ३ , २५ आर्म्स एक्ट के तहत गुनाह दर्ज किया गया !
उक्त कारवाही माननीय पोलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन , मा . अप्पर पुलिस अधीक्षक रीना जनबंधु , श्री दीपक साखरे उपविभागीय पोलिस अधिकारी राजुरा के मार्गदर्शन में बल्लारपुर के दबंग पोलिस निरीक्षक आसिफ राजा बी शेख , पो .उपनिरीक्षक प्रेम शाह सयाम , पो . उपनिरीक्षक विक्की लोखंडे , सहायक फौजदार गजानन डोईफोडे , पो . हवलदार सर्वश्री रणविजय ठाकुर ,पुरषोत्तम चिकाटे , सुनील कामटकर , संतोष दंडेवार , सत्यवान कोटनाके , वशिष्ट रंगारी , शरदचंद्र कारूष ,मिलिंद आत्राम , शेखर माथनकर , श्रीनिवास वाभीटकर आदि स्टॉफने इस कार्रवाही को अंजाम दिया और आरोपी के पास से करीब २५, ०००/₹ ( पच्चिस हजार रूप्येक) का अवैध रिव्हाल्वर जब्त किया !
बल्लारपुर के पोलिस निरीक्षक आसिफ राजा और उनके स्टॉफ की सतर्कता के और दो नंबरीयों अवैध शराब आदि कारोबारियों के खिलाफ समय समय पर की जानेवाली कानूनी कार्रवाहियों के चलते और प्रतिबंधित जानलेवा अवैध गुटका , खर्रा , तंबाकू , माजा ,नकली मीठी सुपारी , ईगल पन्नी का गडचिरोली , चंद्रपुर , हिंगणघाट , वरोरा , भद्रावती , पोंभुर्णा , सिंदेवाही , चांदापुर , फिस्कुटी , आदि जिलों , शहरों गांवो में पूरे विदर्भ मे करोडों का माल पहोचाने वाला माफिया बल्लारपुर का रहनेवाला होते हुवे भी उसने इन दिनों अपने इस अवैध जानलेवा प्रतिबंधित कारोबार का जाल मूल से संचालित कर रखा है !
यह माफिया सरगना कभी छोटी टपरी चलाता था लेकिन इस अवैध कारोबार के चलते करोडों की चल अचल संपत्तियों का मालिक बन बैठा है !
जबके पूरे जिलेभर के पोलिस स्टेशनों के कार्यक्षेत्रों में जगह जगह सट्टा अड्डों , जुआघरों , अवैध शराब बिक्रेताओं , जानलेवा प्रतिबंधित गुटका , खर्रा , माजा , तंबाकू , नकली मीठी सुपारी बिक्रेताओं , जिस्मफरोशी के अड्डों पर छापामार कार्रवाहीयाँ आये दिनों होती है !
लेकिन मूल पोलिस स्टेशन का कार्यक्षेत्र इसके लिये अपवाद है ! सालोंसे यहाँ डेरा जमाये बैठे पुलिस कर्मियों की गतिविधियाँ और अवैध व्यवसाईयों से जयसुख के गुर्गों जेठ्या,अनिल,ठाकुर,नरेश, संतोष , अंकुश ,चलाख , भुरसे ,
सचिन आदिसे उनके याराना संबंधों के चलते इन अवैध कारोबारियों का धंदा बेरोकटोक सरेआम चलता है !
चंद्रपुर की अपराध शाखा LCB के स्टॉफने यहाँ मूल पुलिस के कार्यक्षेत्र में अवैध शराब , प्रतिबंधित गुटका खर्रा वालोंको धर दबोचा था !
जयसुख के मूल स्थित गुर्गे सरेआम कहते फिरते है के हमारे बॉस ने 50 – 50 लाख रुपया चंद्रपुर के साहब लोगो को तय किया है ,मूल में हमारे दो वर्दीधारी बंधे है ! मूल के वसूली वालेको हमारे बॉस ने 5 लाख ( पाँच लाख ) रुपया महीना फिक्स किया है ! हमारे बॉस ने हमको साफ कह दिया है अब कोई कितना भी चिल्लाये कितने भी अखबारोंमे समचारोमे हमारे धंदों के खिलाफ चाहे जो मर्जी छापे हमारा कोई कुछ भी नही उखाड सकते !
यह अवैध कारोबार करनेवाले आखिरकार किसके बलबूते इस ढंगकी घमंडभरी भाषा का सरेआम इस्तेमाल करते हैं ?
बल्लारपुर वाला यह माफिया सरगना कई केसेस में अपराधी होने पर भी पुलिस के हथ्थे चढनेसे पहले भूमिगत होकर फरार हो जाता है और अदालतोंसे गिरफ्तारी पूर्व जामिन करवा लेता है ? यहभी जाँच का ही विषय है ?
क्या पुलिस विभाग के आलाअधिकारी इनके खिलाफ कडे कदम उठायेंगे ? उनपर लगाम लगा पायेंगे ???