मूल शहर में सफेदपोशों की पर्दों के पीछे बढने लगी है अय्याशियाँ ⁉️ बाप-बेटा -चाचा में मची होड किसकी है ज्यादा माशुकाएँ❓

564

 

संवाददाता
मूल शहर में इन दिनों अय्याशीयों के कई अड्डे जगह जगह बन चुके हैं ! पहले आय्याशियाँ करने व्यभिचारी लोग उमा नदी के किनारे बने अड्डों पर जाया करते थे ! लेकिन अब आसमान छूती महंगाई के चलते और मोबाईल -पार्लर -महंगे कपड़े ऊंचे शौक के चलते साधन संपन्न सफेद पोश दो नंबरी लोग यह सब प्रलोभन दिखलाकर अपने प्रेमजाल नुमा ?️ मकडजाल?️?️में कुछ महिलाओं लड़कियों को फास कर सरेआम आय्याशियाँ करते नजर आ रहे है !ऐसेही कई प्रकरण विगत समय उजागर हुवे है !
हालहीमें मूल शहर में एकही घर के बाप -बेटा और चाचा की अय्याशियोंका मामला चर्चा का विषय बना हुवा है ! इन तीनो में होड़ मची है के किसकी सबसे ज्यादा मशुकाएँ है और कौन सबसे ज्यादाअय्याशियोंके झंडे गाड़ता है ⁉️
यह सफेदपोश बाप बेटा चाचा धार्मिकता का सोंग करते हैं और समाजवालों को काफी धार्मिक होने की नौटंकी करते हुवे किसीभी धर्मिक कार्यक्रमो में सामने सामने नजर आते हैं अपने घरोंमें धार्मिक कार्यक्रमो का आयोजन कर समाजवालों को खाना खिलाते हैं प्रसाद बाटते है ! लेकिन इनके कर्म पापोंसे भरे पडे है !
बापने मूल शहर के आसपास के कई गांवों की महिलाओं कम उम्र की लड़कियों की मजबूरियों उनकी गरीबियों का फायदा उठाकर अपने वासना से भरे प्रेमजाल मे फाँस रखा है ! इतना ही नही तो यह इतना शातिर दिमाग है के जिन महिलाओंके घरोंमें पारिवारिक लड़ाई झगड़े होते हैं उन महिलाओंको मदत दिलवाने के बहाने उनको अपनी टू व्हीलर पर साथमे बिठाकर नेताओंके पास लेजाकर शासन दरबार तक उनकी गुहार लगवाने में मदत दिलवा देता है ! इतनाही नही तो उन्हें अपने घर पनाह देनेका और उन्हींसे शादी करने का लालच देकरऔर फिर अपनी वासनाकी भूख उनसे मिटाता रहता है ! यही हाल चाचा का है उसने भी कई माशुकाओंकी गरीबी मजबुरीयों का फायदा उठाकर जिस्मफरोशियाँ करता रहता है ! इतना ही नही तो एक चहेती माशुकाको तो अपनि टू व्हीलर पर रोज शामके वक्त तालाब तक पहोचाने जाता है जोकि शहरभर में चर्चा का विषय बना हुवा है !
बेटा तो बाप और चाचा से भी सवाई निकला है!? इसने तो कई घरोंमें सेंघ लगाई है ! महिलाओंके घरोंमें जब कोई नही रहता वह जब घरमे अकेली रहती है तब मोबाईल से उसके साथ बात करके जानकारी ले लेता है और फिर उस घरमे पहोंचकर घँटे डेढ़ घँटे तक अय्याशी करता रहता है ! इसके इस कारनामोंको आसपासके कई लोगोंने देखा है ! जोकि चर्चा का विषय बना हुवा है !
बतलाया जाता है कि इसकी दुकानमें यह जिस किसी लड़की को नौकरी पर रखता था तो कोईभी सामान दिखाने के बहाने उसकी मांडी पर हाथ फेरकर वह सामान मांगता था जिसके कारण वह लड़कियां नौकरी छोड़कर भाग जाती थी अब इसके दुकान पर नौकरी के लिये लड़की चाहिये का बोर्ड बैनर महीनों से टँगा होने परभी कोई लड़की इस अय्याश की दुकान में नौकरी करने नही आती !
इन दिनों बाप -बेटा -चाचा शहर भरमे चर्चा का विषय बने हुवे है ! जल्दही इनके पापोंका घड़ा फुटनेकी कगार पर है !????