मालिकाना अधिकार हेतु मुख्यमंत्री से कार्यवाही की मांग 43 वर्षों से लम्बित समस्या: श्रमिक बस्ती के निवासियों का धरना प्रदर्शन जारी !

32

 

नैनी, प्रयागराज :-
श्रमिक बस्ती, नैनी के निवासियों ने मालिकाना अधिकार की समस्या के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ से कार्यवाही की मांग की है।
उत्तर प्रदेश की सभी औद्योगिक श्रमिक कॉलोनियों में रहने वाले आवासियों को उनके आवासों का मालिकाना अधिकार दिए जाने के लिए आज मानस पार्क, श्रमिक बस्ती, नैनी, प्रयागराज में धरना देकर समस्या के निराकरण की मांग की गई। पिछले कई माह से चल रहा मजदूरों का धरना प्रदर्शन आज भी जारी रहा ।
धरना स्थल पर प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए श्रमिक बस्ती समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि डबल इंजन की सरकार होने के बावजूद भाजपा सरकार द्वारा इस समस्या के निराकरण की उपेक्षा की जा रही है। जिससे पूरे प्रदेश की औद्योगिक श्रमिक बस्तियों में रहने वाले लाखों निवासियों में भारी आक्रोश व्याप्त है।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि अन्य राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी श्रमिक बस्ती के निवासियों को उनके आवासों का मालिकाना अधिकार दिया जाए, अन्यथा पूरे प्रदेश में चक्का जाम आंदोलन शुरू किया जाएगा।
श्री मिश्र ने कहा कि उत्तर प्रदेश श्रम विभाग पिछले 43 वर्षों से इस मामले को लटकाए हुए हैं और श्रम विभाग के द्वारा मुख्यमंत्री के आदेशों की अवहेलना की जा रही है तथा केंद्र सरकार के आदेश का भी पालन नहीं किया जा रहा है।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि श्रमिक कॉलोनी में मजदूरों के लिए बनाए गए पार्कों, खेल के मैदानो और सामुदायिक केंद्र राजकीय श्रम हितकारी केंद्र पर 42 वीं वाहिनी पीएसी के लोगों ने कब्जा कर लिया है। जिससे स्थानीय निवासियों में भारी आक्रोश व्याप्त है। श्री मिश्र ने कहा है कि राजकीय श्रम हितकारी केंद्र और श्रमिक बस्ती से पीएसी को हटाकर अन्यत्र स्थापित किया जाए।
धरना-प्रदर्शन, बैठक में सर्वश्री शंकर लाल त्रिपाठी, नंदकिशोर मिश्र, गुड्डू राय, मोहम्मद शाहिद, अजमत हुसैन, प्रभु दयाल यादव, उमानंद मिश्र, प्रदीप शर्मा, सभाजीत यादव, प्रभु दयाल यादव, जवाहर यादव, पुनीत कुमार मिश्र, बैजनाथ सिंह यादव, ओमप्रकाश तिवारी, आशीष तिवारी, कमलेश कुमार, शकील अहमद, केदार उपाध्याय, कन्हैया जी मिश्र, अनिल कुमार श्रीवास्तव, पप्पू शर्मा, लक्ष्मी नारायण गोपाल जी, शिवबरन सिंह, विनय मिश्र आदि लोग उपस्थित थे।