मालिकाना हक के लिए मुख्यमंत्री द्वारा परामर्शदात्री समिति गठित किए जाने का स्वागत!

34

11 फरवरी 2024 को होगी श्रमिक कॉलोनी के निवासियों की बैठक!

नैनी, प्रयागराज। उत्तर प्रदेश की श्रमिक कॉलोनियों की समस्याओं के निराकरण हेतु मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा परामर्शदात्री समिति गठित किए जाने का स्वागत करते हुए समिति के नवनियुक्त सदस्य विधायक गोविंद मैथानी जी को बधाई दी गई और मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा है कि मालिकाना अधिकार दिए जाने हेतु बिक्री प्रक्रिया शीघ्र ही शुरू होने की उम्मीद है।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने बताया है कि मालिकाना अधिकार आंदोलन के तहत उत्तर प्रदेश की औद्योगिक श्रमिक बस्तियों के आवासों में रहने वाले लोगों को उनके आवासों का मालिकाना हक दिए जाने के लिए कालोनी के निवासियों द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन के तहत आगामी 11 फरवरी 2024 को मानस पार्क, श्रमिक कॉलोनी, नैनी में शाम तीन बजे कॉलोनी के निवासियों की बैठक होगी।
प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिक बस्तियों की समस्याओं के निराकरण के लिए राज्य परामर्शदात्री समिति गठित किए जाने का श्रमिक बस्ती के निवासियों ने स्वागत किया है।
सचिव विनय मिश्र ने कहा है कि सरकार द्वारा आंदोलनकारियो की समस्या पर विचार किए जाने एवं कॉलोनी के निवासियों को उनके आवासों का मालिकाना हक दिए जाने की दिशा में अब सकारात्मक कार्यवाही होने लगी है।
कॉलोनी के निवासियों ने मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी को परामर्शदात्री समिति गठित किए जाने के लिए धन्यवाद देते हुए आभार व्यक्त किया है।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा है कि मालिकाना हक दिए जाने हेतु शीघ्र ही बिक्री प्रक्रिया शुरू होने की उम्मीद है।
सरकार द्वारा की जा रही कार्रवाई पर संतोष व्यक्त करते हुए समिति ने यह निर्णय लिया है कि माघ मेला एवं भीषण ठंड को देखते हुए 10 फरवरी 2024 तक मालिकाना अधिकार आंदोलन के तहत पत्राचार अभियान चलता रहेगा।
इस के बाद 11 फरवरी को मानस पार्क में समिति के निवासियों की बैठक होगी। जिसमें आगामी कार्रवाई का निर्णय लिया जाएगा। समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा है कि केंद्र सरकार की राजआजा के अनुसार अन्य राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश की श्रमिक कॉलोनियों के आवासों का मालिकाना अधिकार दिए जाने हेतु समिति के द्वारा पिछले कई माह से आंदोलन चलाया जा रहा है।
सचिव विनय मिश्र ने कहा है कि जब तक मालिकाना हक नहीं मिल जाएगा, श्रमिक कॉलोनी के निवासियों का आंदोलन चलता रहेगा।
विनय मिश्र, सचिव-श्रमिक बस्ती समिति, नैनी, प्रयागराज