श्रमिक कॉलिनी के आवासों के मालिकाना हक के लिए दिया धरना

34

नैनी, प्रयागराज। श्रमिक कॉलोनी के आवासों का मालिकाना हक दिए जाने की मांग को लेकर श्रमिक कॉलोनी के निवासियों ने मानस पार्क, श्रमिक कॉलोनी, नैनी में धरना दिया।
धरना दे रहे लोगों को संबोधित करते हुए श्रमिक बस्ती समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि पूरे उत्तर प्रदेश नैनी समेत अन्य जिलों में स्थित श्रमिक कॉलोनियो के लाखों श्रमिकों की यह सबसे गंभीर समस्या है। श्री मिश्र ने सरकार से मांग की है कि समस्या का शीघ्र समाधान किया जाए।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि श्रमिक बस्ती समिति के द्वारा पिछले दो माह से आंदोलन चलाया जा रहा है। लेकिन उत्तर प्रदेश श्रम विभाग के अधिकारी इस गंभीर समस्या की ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिससे लोगों में भारी रोष व्याप्त है।
समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि केंद्र सरकार के आदेशानुसार अन्य राज्यों ने औद्योगिक श्रमिक बस्तियों में रहने वाले लोगों को उनके आवासों का मालिकाना हक दे दिया। लेकिन उत्तर प्रदेश में श्रम विभाग इस मामले को पिछले 43 वर्षों से लटकाए हुए है । चार साल 8 महीने पहले मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश श्रम विभाग के अधिकारियों से कार्ययोजना तैयार करने को कहा था। लेकिन उत्तर प्रदेश श्रम विभाग ने कोई करवाई नहीं की। जिसकी वजह से पूरे प्रदेश की इन कॉलोनियों में रहने वाले लाखों मजदूर अनिश्चय की स्थिति में रह रहे हैं।
धरना देने वालों में सर्वश्री नंदकिशोर मिश्र, प्रदीप कुमार शर्मा, अजमत हुसैन, गुड्डू राय, आत्मानंद श्रीवास्तव, अनीश कुमार, अनिल श्रीवास्तव, प्रकाश सिंह, राघवेंद्र सिंह गवर्नर, गोपाल सिंह, शिव बरन सिंह, नितिन सिंह, खालिद हसन आदि लोग उपस्थित रहे।