खवातीन ए इस्लाम महाराष्ट्र अध्यक्ष शाहीन शेख

35

*ईद मिलाद-उन-नबी मुस्लिम समुदाय में एक विशेष अवसर है जो अल्लाह के दूत पैगंबर मुहम्मद की जयंती के जश्न के तौर पर मनाया जाता है !*
*मिलाद-उन-नबी का पर्व इस्लामी साल के तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल के 11वें और 12वें दिन को मनाया जाता है ! इस पर्व पर घर और मस्जिदों को सजाया जाता है और लोग मिल-जुलकर धूमधाम से इस दिन को मनाते हैं ! इस दिन लोग कुरान को पड़ते हैं अल्लाह की इबादत करते हैं ! इसके साथ ही इस दिन जुलूस निकाला जाता है और लोग गरीबों और जरूरतमंदो को जकात व दान करते हैं ! इस साल यह त्योहार 28 सितंबर को मनाया जा रहा है !*
*बता दें कि इस्लाम धर्म को बढ़ाने में पैंगबर मुहम्मद का विशेष योगदान माना जाता है ! उनके वालिद और वालेदा का नाम अबदुल्ला बिन अब्दुल और आमेना था !*
*ऐसा माना जाता है कि वो अल्लाह की तरफ से भेजे जाने वाले आखिरी पैंगबर थे ! इस दिन मौलाना लोगों को अल्लाह की राह पर चलने की राह दिखाते हैं ! इसलिए यह दिन बेहद खास होता है !*