मूल का डी बी स्कॉड सिर्फ पब्लिसिटी करवाने मे माहिर!?

71

*मूल में चल रहे जुआ अड्डे ,सट्टा अड्डे ,जिस्मफरोशी के अड्डे , प्रतिबंधित जानलेवा गुटका खर्रा नकली मीठी सुपारी , माजा लाखोंका माल बेचनेवाला राम -लखन सरेआम धडल्लेसे गांव गांव में सप्लाई करता है ? आखिर इन दो नंबरीयों पर किसका आशीर्वाद है जो ये पकडे नही जाते ?*

*विगत समय मूल के वर्धेवार बंधु का ट्रक चोरी गया था ! वह ट्रक आरमोरी रोड पर चोरोने टायर चुराकर ट्रक छोडकर चलते बने थे !*
*वर्धेवार बंधु के दोस्तोने ट्रक को आरमोरी रोडपर खडे होनेकी जानकारी दी थी ! तब ट्रक मालिक वर्धेवार ने मूल पुलिस को यह जानकारी दी थी !*
*तब डी बी स्कॉड वाले ट्रक मालिक वर्धेवार के साथ आरमोरी रोडपर गये और वहाँ खड़े ट्रक को लेकर मूल आये !*
*इसमें मजेदार बात यह देखने मिली थी के जब पुलिस का काफिला मूल के गाँधी चौक में पहोचा तो ट्रक को पीछे रखकर आगे आगे मूल पुलिस की जीप जिसमे डी बी स्कॉड वाले जैसे मंत्री जी के काफिले के आगे आगे पुलिस की गाडी चलती है वही नजारा था और चौक में यू ट्यूब न्यूज़ वाले उस काफिले की वीडियो शूटिंग कर रहे थे !*
*उसके बाद समाचार में डी बी स्कॉड वालो की वाहवाही भरा समाचार दिया गया के डीबी स्कॉड के अधिकारी ने चौबीस घँटे के अंदर चोरी गया ट्रक बरामद कर लिया ! इस तरहसे झूठी वाहवाही डीबी स्कॉड वालोंने लूटने का खेल खेला था ! ? जबके वर्धेवार के मित्रोने उस ट्रक के आरमोरी रोडपर पर खडे होनेकी जानकारी वर्धेबार को दी थी और वर्धेवार यह बात पुलिसवालोंको बतलानेके बाद डीबी स्कॉड वाले वर्धेवार के साथ जाकर वह ट्रक मूल लाये थे और मूल के गाँधी चौक में फिल्मी शूटिंग वाली नौटंकी की गई थी और समचारोमेझूठी वाहवाही लूटी गई थी !*
*अभी वाहवाही लूटने का वही खेल फिरसे खेला गया ? बाहर गांव के खेतमे चल रहे मुर्गा बाजार को पकड़ा गया ,और मूल में पतंग का मांजा पकड़ा गया तो दोनो समचारोमे फोटो भी छपवाये गये यू ट्यूब समाचार पत्रोंमें पब्लिसिटी की गई !*
*लेकिन मूल शहर में चलने वाला लाखों रुपयोंका सट्टा पट्टिका अड्डा , जुआ अड्डे , जिस्मफरोशी का शहरके बीच चलने वाला अड्डा यह सरेआम चल रहे हैं ,लेकिन डीबी स्कॉड ने कभी छापा नही मारा ?*
*उसी तरहसे मूल शहर में राम-लखन लाखोंका प्रतिबंधित जानलेवा गुटका खर्रा नकली सुपारी ,माज़ा मूल में भी बेचता है और आस पासके गांवोमे भी सप्लाई करता है ,लेकिन कभी पकड़ा नही गया ?! आखिर इसकी क्या वजह हो सकती है ?*
*उसी तरह से नागपुर से चंद्रपुर व्हाया जाम नजदीक का रास्ता होते हुवे भी चंद्रपुर के दो नम्बरी ड्रग्स माफिया गुप्ता का लाखों रुपयोंका प्रतिबंधित गुटका नकली सुपारी ,माज़ा ,तंबाकू नागपुरसे व्हाया मूल गुप्ता के अड्डेपर जाता है उसी तरहसे छत्तीसगढ़ से भी हर गुप्ता का यह प्रतिबंधित अवैध जानलेवा माल करीब पचास लाख रुपयोंका माल का ट्रक भी व्हाया मूल चंद्रपुर गुप्ता के नियोजित जगह पर पहोचता है लेकिन आश्चर्य की बात तो यह है के मूल के डी बी स्कॉड वालोंको यह कुछ भी कैसे नजर नही आता ?*