न्यूड वीडियो कॉल साइबर फ्रॉड ब्लैकमेलर गिरोह के खिलाफ

46


*यू .पी. के मुख्यमंत्री पोर्टल पर दर्ज हुई शिकायत!*

*श्री विनय मिश्र द्वारा साभार प्राप्त*

*नैनी, प्रयागराज:-*

*फेसबुक- व्हाट्सएप के जरिए लोगों को ब्लैकमेल करने वाले अपराधी गिरोह के खिलाफ मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई गई है । इसके पहले साइबर थाना प्रभारी, साइबर क्राइम सेल, क्राइम ब्रांच, पुलिस लाइंस, प्रयागराज कार्यालय में शिकायती पत्र देकर कार्रवाई की मांग की गई थी ।*
*शिकायती पत्र दिए जाने के बाद शिकायत को आज मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर भी दर्ज करा दिया गया है ।*
*भुक्तभोगी नैनी निवासी एक पत्रकार ने पोर्टल पर दर्ज कराई गई शिकायत में कहा है कि इस गिरोह के आतंक के कारण बुजुर्ग लोगों का जीना दुश्वार हो गया है । फेसबुक और व्हाट्सएप चैट के जरिए पहले यह लोगों को फंसाते हैं । फिर उसके बाद वसूली के लिए जिस तरह से लोगों को धमकाते हैं । उससे कमजोर दिल के आदमी को दिल का दौरा पड़ सकता है । इस साइबर क्राइम के बहुत से लोग शिकार हो चुके हैं ।*
*पहली बार किसी ने व्हाट्सएप चैट के प्रमाण के साथ क्राइम ब्रांच में शिकायत दर्ज कराई है ।*
*क्राइम विभाग को इन अपराधियों के द्वारा प्रयोग किए जाने वाले व्हाट्सएप नंबर और एक फोन पे नंबर दिए गए हैं ।*
*इन दो नंबरों के आधार पर पुलिस यदि चाहे तो मुख्य अपराधी गिरोह और उसके सक्रिय लोगों को पकड़ सकती है । इन अपराधी गिरोहों के आतंक के कारण शरीफ इज्जतदार लोगों का जीना दुश्वार हो गया है । ब्लैक मेलिंग के जरिए धन उगाही करने वाले इन अपराधियों ने सोशल मीडिया को बदनाम कर दिया है । ब्लैकमेल करने वाले इन साइबर फ्रॉडो ने फेसबुक पर वकायदे अपनी प्रोफाइल बना रखी है और उस प्रोफाइल के जरिए लोगों से दोस्ती कर बाद में भयादोहन करते हैं । पिछले कई वर्षों से यह खेल चल रहा है । देखना है प्रयागराज पुलिस इस मामले में अपराधियों को कब तक गिरफ्तार करती है ?*
*एक वरिष्ठ पत्रकार का कहना है कि पुलिस को सारे साक्ष्य दे दिए जाने के कारण अपराधियों की आसानी से गिरफ्तारी होनी चाहिए ।*
*सूत्रों का कहना है कि इस तरह के साइबर अपराधियों द्वारा पूरे देश में लंबे पैमाने पर ब्लैक मेलिंग का धंधा चलाया जा रहा है । लोगों से लाखों रुपए वसूला जा रहा है । अनेकों लोग इसका शिकार हो चुके हैं । लेकिन आज तक कोई संगठित गिरोह पकड़ा नहीं गया ।*
*इन अपराधी गिरोहों को पकड़े नहीं जाने के कारण न्यूड वीडियो कॉल के जरिए ब्लैकमेलिंग का धंधा बढ़ता जा रहा है । खास तौर पर इस गिरोह के लोग 60 से 70 वर्ष के बीच के लोगों को टारगेट करते हैं । बहुत से लोग इस शिकार हो चुके हैं लेकिन लोक लाज के भय से किसी से कहते नहीं । आखिर ब्लैक मेलिंग का यह खेल कब तक चलेगा ?*
*विनय मिश्र*
*मो. 7 3 5 5 5 5 8 2 3 3*