पत्रकार से दस लाख रुपये की रंगदारी मांगने वाले अपराधी गिरोह के विरूद्ध कार्यवाही की मांग

45

*फेसबुक फ्रेंड्स बनाकर फिर व्हाट्सएप नंबर माँगा जाता है ,उसके बाद वीडियो कॉलिंग करके नंगे वीडियो लड़की कपड़े उतारकर दिखाती है और देखने वालेका वीडियो सेव करके उसे ब्लैकमेल किये जानेका खेल पूरे देशमे चलाया जा रहा है !कई रूपयोंसे बर्बाद हुवे और कईयोने आत्महत्याएं तक की है !*

*नैनी, प्रयागराज : -*
*लगभग पिछले एक माह से एक अपराधी गिरोह के द्वारा नैनी निवासी पत्रकार विनय मिश्र को सोशल मीडिया पर बदनाम करने और फर्जी केस में फंसाने की धमकी देकर दस लाख रुपये की रंगदारी मांगी जा रही है।*
*प्रभारी साइबर सेल क्राइम ब्रांच, प्रयागराज को दिये गये प्रार्थना पत्र में कहा गया कि प्रार्थी के पास गत दिवस फेसबुक मैंसेजर पर वीडियो काॅल आई। दो-तीन बार वीडियो काॅल आने के बाद जैसे ही फोन उठाया। उधर एक युवती की नंगी फोटो दिखाई दी। प्रार्थी ने तुरन्त फोन काट दिया।*
*साइबर सेल को अवगत कराया है कि फोन काटते ही विनय मिश्र के व्हाट्सएप्प पर मो0नं0 9453807627 से मैसेज आया कि आपकी वीडियो यूटय्ूब, फेसबुक में अपलोड कर रही हूं। डिलीट या अपलोड जल्दी बोलो। आपके फै्रन्ड को सेंड कर दिया है, बोलो डिलीट या अपलोड। युवती ने फिर धमकी दिया कि अभी दस मिनट में सब जगह अपलोड करती हूं। मैं आपकी सोसाइटी में कोई इज्जत नहीं छोड़ूंगी। प्रार्थी ने उक्त युवती का परिचय जानना चाहा तो उसने कहा मेरी छोड़ो मेरी कोई इज्जत नहीं है। लेकिन मैं आपकी लाइफ बर्बाद कर दूंगी। डिलीट या अपलोड जल्दी बोलो। बार-बार उसने कई धमकियां दी।*
*फिर प्रार्थी ने पूछा आप क्या चाहते हो? उधर से जवाब आया 20 हजार रुपये तुरन्त सेन्ड करो।*
*फिर उसने मो0नं0 9034292254 मेरे व्हाट्सएप्प पर भेजा और कहा कि जो नं0 भेजा है उसपर पांच मिनट में पैसा भेजो। काफी देर वह धमकी देती रही। बाद में उसके व्हाट्सएप्प मैसेज से परेशान होकर मैंने उसके नंबर को ब्लाक कर दिया।*
*प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि दो-तीन दिन बाद फिर एक व्यक्ति ने फोन करके कहा कि दिल्ली में एक लड़की मादक पदार्थ गांजा, चरस, हेरोईन के साथ पकड़ी गई है। उसके पास तुम्हारी फोटो है। मैं दिल्ली क्राइम ब्रांच से बोल रहा हूं। तुम जल्दी से इस मामले को खत्म करो। नहीं तो तुम भी फंस जाओगे और तुम्हारी जिन्दगी बर्बाद हो जायेगी।*
*परिचय पूछने पर उसने फोन काट दिया। दो-तीन दिन के बाद फिर हरियाणवी आवाज में फोन आया। फोन करने वाले ने धमकाया कि तुम दस लाख रुपये तुरन्त भेजो नहीं तो तुम्हारे खिलाफ मुकदमा दर्ज होने जा रहा है। उसने फिर से कहा कि वो दिल्ली क्राइम ब्रांच से बोल रहा है।*
*प्रार्थी ने भयभीत होकर कह दिया कि दस लाख रुपये का इंतजाम करने में समय लगेगा। इतनी जल्दी कहां से भेज दें। तीन-चार दिन बाद फिर उसका फोन आने पर मैंने कहा कि मेरे पास पैन कार्ड नहीं है। इसलिए पैसा ट्रांसफर नहीं हो सकता है।*
*कुछ देर बाद उसका फिर से फोन आया और उसने कहा कि नैनी आजाद पार्क के सामने बी0के0 यादव नाम का मेरा एक बंदा रहता है। उसके घर पर तुम दस लाख रुपये पहुंचा दो। बी0के0 यादव भरत लाल के थ्रू मेरे पास भेज देगा। इस फोन के बाद मैने उसके नंबर को ब्लाक करते हुए डिलीट कर दिया।*
प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि इस घटना से प्रार्थी बहुत ही* *परेशान और दुखी है। इन लोगों की इस तरह की धमकियों के कारण प्रार्थी का जीना दुश्वार हो गया है। इन लोगों के डर की वजह से प्रार्थी अपना मोबाइल स्विच ऑफ किये रहता है। ऐसा लगता है कि इस अपराधिक गिरोह का नैनी, प्रयागराज से लेकर दिल्ली तक बहुत बड़ा रैकेट है।*
*शिकायतकर्ता विनय मिश्र ने दस लाख रुपये की रंगदारी मांगने वाले इस अपराधिक गिरोह के सदस्यों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करके विधिक कार्यवाही करने की मांग की है।*

प्रार्थी
दिनांक 16.11.2022
विनय मिश्र ‘पत्रकार‘
37/2 श्रमिक बस्ती
नैनी, प्रयागराज
मो0-7355558233
नोट: मो0नं0 9453807627 से व्हाट्सएप्प
पर की गई बातचीत के स्क्रीनशाॅट की
हार्ड कापी साक्ष्य हेतु संलग्न है।