दिल्ली पुलिस के डेप्युटी कमिश्नर श्री प्रदीप श्रीवास्तव के लेटर के बाद अब अशरफ मिस्त्री को किसीके सर्टिफिकेट की जरूरत नही

353

दिल्ली पुलिस के डेप्युटी कमिश्नर श्री प्रदीप श्रीवास्तव ने अपने पत्र में दिल्ली के पोलिस कमिश्नर को साफ तौर पर लिखा है कि , ” जो काम हमारी दिल्ली पुलिस और सी बी आई नही कर सकी वह काम अशरफ मिस्त्री ने करके दिखलाया है और इस केस की सभी जानकारियाँ हमको मुहैया करवाई और पूरी इंक्वायरी में अशरफ मिस्त्री हमारे साथ थे और यह बबल ब्लॉस्ट अशरफ मिस्त्री की वजह से ही हो सका है ! ”   मैने दाऊद गिरोह के बडे बडे सरगनाओको पकडवाया था और इतनाही नही तो दाऊद के गुर्गे छोटा शकील की दुबई से रोमेश शर्मा को आने वाली कॉल भी दिल्ली पुलिस को डिटेक्ट करवा दी थी और दिल्ली पुलिस ने उन कॉल्स को टेप भी किया था ! अब मुझे किसी मूल के अधिकारी या उनके पिट्ठुओं छुटभैये कथित नेताओंके प्रमानपत्रोंकी जरूरत नही !

 

यह सब कितने दूधके धुले है सब मुझे पता है ! कौन किससे कितना हप्ता लेता है ,दो नम्बर के धंदे , बस स्थानक के पासमे ही मेन रोड से लगे हुवे भीडभाड वाले रास्तेपर आसपास के गांवोसे ,चंद्रपुर से अध्यनरत गरीब , मध्यमवर्गीय लडकियोंको मोबाईल का , ज्वेलरी का , महंगे ड्रेसोंका लालच देकर मूल लाकर जिस्मफरोशिके अड्डे पर सरेआम धडल्लेसे दिनदहाड़े अय्याशियाँ चलती है और इस अड्डेवालेने 7 ( सात ) लडके देखरेख के लिये चारो तरफ निगरानी के लिये रखे हैं , जुआ- सट्टा अड्डे , सट्टाकिंग सोहेल का मूल तहसील के गाँव गाँव से लेकर गडचिरोली जिले तक सट्टापट्टियोंके कलेक्शन करनेका नेटवर्क , अवैधऔर नकली शराब काजहाँ लायसेंसी दुकाने नही है उन गाँवोंमेंभी पूरे परिसर में शराब बेचे जानेका फैला हुवा नेटवर्क यह सब अवैध काम बेरोकटोक क्या ऐसेही मुफ्त में जारी है ❓कौन खा रहा है लाखोंका हप्ता ⁉️
ऐसे भ्र्ष्टाचार के गर्त में डूबे हुवे ईमानदारी का चोला ओढे बैठे लोगोंने नीतिमत्ता की बातें ना करे तो अच्छा है ! मैं माफिया सरगना दाऊद इब्राहिम के गिरोहसे नही डरा था तो तुम किस खेत की मूली हो ❓ मैं अपने पूरे जीवनकाल में सिर्फ अल्लाह – ईश्वर – गॉड से डरता हूँ !

इसलिये मेरे पिठपिछे ❌❌❌ का बाल बांड्या कहने वालोमे औऱ उनके पालतू अधिकारियोंने बकबक और अनापशनाप बकने से बेहत्तर होगा अगर मर्द हो तो मेरे ऑफिस के -घरके दरवाजे के सामने आकर यह सब गालियाँ और बकवास करके शहर वालोंको सुनाये !

अशरफ भाई मिस्त्री ✍️✍️✍️