मूल का पुलिस विभाग सुस्ती मे , अवैध जानलेवा नकली गुटका खर्रा माजा ,अवैध शराब बिक्रेता , जुआ – सट्टा अड्डेवाले माफियां मस्तिमे ?

17


मूल का पुलिस विभाग सुस्त ?
चंद्रपुर का एल सी बी ( स्थानिक गुन्हे शाखा ) चुस्त !

मूल पोलिस स्टेशन के कार्यक्षेत्र के कई गांवों में छापेमारी कर चंद्रपुर के स्थानिक गुन्हे शाखा के अधिकारियोंने लांखों की अवैध शराब गुटका खर्रा पकडकर आरोपियों को गिरफ्तार किया !

विगत सप्ताह चंद्रपुर गुन्हे शाखा के टीमने मूल तहसील के बेंबाल में छापेमारी कर राकेश नामक शख्स के पाससे अवैध गुटका खर्रा , माजा जब्त किया था !
उसी तरहसे भवराला नामक गांवमें भी विगत समय एल सी बी के स्टाफने छापेमारी कर करीब ७ / ८ लाख रुपयोंका अवैध माल जब्त किया था !
अभी हालही में चंद्रपुर स्थानीय अपराध शाखा के अधिकारियों को मूल तहसील के चिरोली से अवैध शराब की लाखोंकी तस्करी गडचिरोली जिले तक किये जानेकी गुप्त सूचना मिलते ही एल सी बी के स्टॉफ ने रातके समय चिरोली -सुशी रास्तेकी नाकाबंदी करके वहाँ से जानेवाले वाहनों की जाँच पड़ताल की तो महेंद्रा पिकअप मे करीब १०० ( एक सौ ) पेटी देसी अवैध शराब जिसकी कीमत करीब ८ लाख ७५ हजार रुपये ( आठ लाख पच्यहत्तर रुपये ) बतलाई गई और महिंद्रा पिकअप वाहन की कीमत करीब ७ लाख ( सात लाख रुपये ) आंकी गई ! इस तरहसे कुल १५ लाख ७५ हजार रुपये ( पंद्रह लाख पच्यहत्तर हजार रुपये ) का माल जब्त किया गया !
यह शराब के बक्से चिरोली के शराब दुकान के बिक्रेता अमोल रामदास ढोरे की दुकान के होनेकी बात कही गई है ? इस प्रकरण मे महिंद्रा पिकअप चालक एटापल्ली निवासी मनोज मजूमदार और मूल निवासी करणसिंग पटवा को स्थानिक गुन्हे शाखा ने गिरफ्तार किया और उन्हें मूल पोलिस स्टेशन के लाकअप मे बंद किया गया !
यह कारवाही जिला पुलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन के अवैध शराब , जानलेवा प्रतिबंधित गुटका खर्रा , माजा आदि अवैध कारोबारी माफियाओं के खिलाफ कड़े रुख के चलते पूरे जिलेभरमें जगह जगह की जा रही छापेमारियो के चलते जिला गुन्हे शाखा के पोलिस निरीक्षक महेश कोंडावार के नेतृत्व में सभी दो नंबरीयों के खिलाफ छापेमारियो के चलते यह आरोपी सलाखों के पीछे पहोच सके है !
इस कार्यवाही में एल सी बी के सहायक पोलिस निरीक्षक हर्षल एकरे , मनोज गदादे , पोलिस उपनिरीक्षक विनोद भुरले , तथा पोलिस हवलदार किशोर वैरागडे , जयंत चुनारकर , चेतन गज्जलवार , रजनीकांत पुट्टावार , सतीश अवथडे आदि स्टॉफ ने इस कामको अंजाम दिया और आरोपियोंको सलाखों के पीछे पहोचाया !
उसी तरहसे बेंबाल में अवैध गुटका खर्रा आदि की जो छापेमारी की गई थी वह स्थानीय गुन्हे शाखा के पोलिस निरीक्षक महेश कोंडावार के मार्गदर्शन में एल सी बी के नितिन सालवे और उनके सहयोगी स्टॉफने अंजाम दिया था !
पोलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन के अवैध कारोबारियों के खिलाफ कडे रुखके चलतेउनके मार्गदर्शन मे पूरे जिलेभरमें अवैध शराब , प्रतिबंधित जानलेवा गुटका ,खर्रा , माजा नकली मीठी सुपारी ,ईगल पन्नी हुक्का के कारोबारियों , सट्टा अड्डों , जुआ घरोंपर छापेमारी जिले के अपराध शाखा के पोलिस निरीक्षक महेश कोंडावार के नेतृत्व में एल सी बी का स्टॉफ और जिलेभर के सभी पोलिस स्टेशन के अधिकारी और उनके स्टॉफ के जरिये जारी है ,जगह जगह लाखोंका माल पकडा जा रहा है ! माफिया दुम दबाये भूमिगत हो गये है !
लेकिन मूल पोलिस स्टेशन अपवाद बना हुवा है ? यह बात समझसे परे है ! मूल पोलिस स्टेशन के कार्यक्षेत्र में सभी अवैध कारोबारी आजादी से अपने अवैध कारोबार में लगे हुवे है ! मूल का अनिल जो जयसुख और वसीम का लाखोंका नकली गुटका खर्रा माजा जेठया और अपने गुर्गो के जरिये कई गांवोमे पहोचाता है उसका कारोबार पहले की तरहसे ही जारी है ! गुप्त सूत्रों से मिली जानकारी के नुसार पता चला है के अनिल को नागपुर जिलेका कोई बंसल नामका शख्स लाखोंका अवैध जानलेवा गुटका खर्रा माजा मूल में पहोचा रहा है !
अनिल यह माल अपनी माशूका साधना ( बदला हुवा नाम ) के यहाँ छुपा कर रख रहा है और उसका और जेठया और उसके गुर्गों का काम मूलके दो वर्दीवालों की वजहसे जारी है ! इस अवैध कारोबारके चलते अनिल करोड़ों की चल अचल संपत्तियों का मालिक बन गया है !
जिला पुलिस अधीक्षक मुमक्का सुदर्शन के कड़े रुखके चलते सालोंसे डेरा जमाये बैठे मूलके दो वर्दीधारियों ने सभी अवैध कारोबारीयोंको सतर्क रहकर धंदा करने और दुकान में टपरियोंमे माल नही रखने कहा है और किसीभी नये ग्राहक से सचेत रहने की चेतावनी दी है !
यहाँ तो सट्टा अड्डे ,जुआ अड्डे , अवैध शराब की लाखोंकी बाहर के दीगर जिलों तक सप्लाई , जानलेवा नकली गुटका खर्रा , नकली मीठी सुपारी , माजा ,ईगल पन्नी का कारोबार इतना ही नही तो अब बैलों के शंकर पट रेस की आडमे लांँखों का जुआ कारोबार भी किसीके रहमोकरम ? से विगत माह भरसे चलाया जा रहा है !
यह सब अवैध कारोबारियों के खिलाफ जिलेके आलाअधिकारी और अपराध शाखा ही लगाम लगा सकते है !