मालिकाना अधिकार आंदोलन जारी

30

*केंद्र सरकार के आदेशानुसार दिया जाए मलिकाना हक*

*मालिकाना अधिकार आंदोलन को लेकर विरोध प्रदर्शन करते हुए श्रमिक बस्ती समिति के आंदोलनकारी कार्यकर्ता*

*नैनी, प्रयागराज।*
*पिछले 16 अगस्त 2023 से शुरू किए गए मालिकाना अधिकार आंदोलन के तहत श्रमिक कॉलोनी के निवासियों ने आज श्रमिक बस्ती स्थित मानस पार्क में धरना दिया और सरकार से मांग की गई कि केंद्र सरकार के आदेशानुसार श्रमिक बस्ती के निवासियों को उनके आवासों का मालिकाना अधिकार दिया जाए।*
*वक्ताओं ने बच्चों के खेल ग्राउंड मानस पार्क और राजकीय श्रम हितकारी केंद्र से पीएसी का कब्ज़ा हटाने की मांग की है।*
*धरना दे रहे बस्ती के निवासियों को संबोधित करते हुए श्रमिक बस्ती समिति के सचिव विनय मिश्र ने कहा कि केंद्र सरकार ने 1978 में उत्तर प्रदेश की श्रमिक बस्तियों में रहने वाले लोगों को उनके आवासों का मालिकाना अधिकार दिए जाने आदेश दिया था।*
*मजदूर हित में आदेश का पालन करने के बजाय उत्तर प्रदेश श्रम विभाग के अधिकारी इस आदेश पर कुंडली मारे बैठे हैं। जिससे यह समस्या पिछले 43 वर्षों से लंबित है।*
*बैठक में श्रमिक बस्ती नैनी में मजदूरों को उजाड़ कर पीएसी को बसाने की साजिश रचने वाले, भ्रष्टाचार और गबन के आरोपी पूर्व उप श्रम आयुक्त राकेश द्विवेदी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई।*
*सचिव विनय मिश्र ने कहा श्रम विभाग की मजदूर विरोधी नीतियों के कारण श्रमिक बस्ती के आवासियों में असंतोष बढ़ रहा है और अब लोग आंदोलन कर रहे हैं।*
*सचिव विनय मिश्र ने कहा कि जिला प्रशासन की लापरवाही के चलते राजकीय श्रम अधिकारी केंद्र में घोटाले के सबूतों को मिटाने की साजिश की जा रही है। जिससे मजदूरों में रोष व्याप्त है।*
*आंदोलनकारी श्रमिक बस्ती के निवासियों ने श्रमिक बस्तियों में रहने वाले लोगों को उनके आवासों का मालिकाना हक दिए जाने, श्रमिक बस्ती नैनी में अवैध रूप से काबिज 42 वीं वाहिनी पीएसी को यहां से हटाने की मांग की है।*
*आंदोलन, धरना, प्रदर्शन में सर्वश्री राकेश कुमार अरोड़ा, श्रीमती अरुना पांडे, शिव शंकर दीक्षित, नंदकिशोर मिश्र, आत्मानंद त्रिपाठी, अजमत हुसैन, अमरचंद शर्मा, ओमप्रकाश सिंह, सत्येंद्र यादव, गोपाल सिंह आदि उपस्थित थे।*