आज दिनांक 6.8.2023 को माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखी गई !

16


( * साभार प्राप्त :- श्रीअजय दुबे*मेंबर : राष्ट्रीय रेल उपभोक्ता सलाहकार परिषद रेल मंत्रालय नई दिल्ली ‘ *बल्लारशाह द्वारा*)
*श्री नरेंद्र मोदी माननीय प्रधानमंत्री द्वारा, श्री अश्विनी वैष्णव केंद्रीय रेल संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, श्री रावसाहेब दादाराव पाटिल दानवे, माननीय रेलवे, कोयला और खान राज्य मंत्री, भारत सरकार और श्रीमती दर्शना जरदोश, माननीय रेल और कपड़ा राज्य मंत्री की गरिमामयी उपस्थिति में दिनांक 6.8.2023 को अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत (वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से) 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखेंगे।*

*अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत पुनर्विकास के लिए नामांकित 1309 स्टेशनों में से 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला दिनांक 6.8.2023 को रखी जाएगी।*

पृष्ठभूमि:

भारतीय रेलवे द्वारा अमृत भारत स्टेशन योजना माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की एक दूरगामी अवधारणा है। उनके मार्गदर्शन में रेल मंत्रालय ने स्टेशनों के आधुनिकीकरण के लिए “अमृत भारत स्टेशन” योजना नाम से एक नई नीति बनाई है। अमृत भारत स्टेशन योजना दीर्घकालिक दृष्टि से निरंतर आधार पर स्टेशनों के विकास की परिकल्पना करती है। यह लंबी अवधि के लिए मास्टर प्लानिंग और स्टेशन की जरूरतों और संरक्षण के अनुसार मास्टर प्लान के तत्वों के कार्यान्वयन पर आधारित है।

मध्य रेल के लिए, 1720 करोड़ रुपये सहित की धनराशि चरण-1 में योजना के तहत विभिन्न कार्यों को निष्पादित करने के लिए नागपुर मंडल के 15 स्टेशनों के लिए 372.1 करोड़ रुपये प्रदान की गई हैं। प्रस्तावित कार्यों की लागत और कार्यक्षेत्र का स्टेशनवार विवरण इस प्रकार है:

1. नरखेड स्टेशन- कुल लागत: 40.8 करोड़
2. काटोल स्टेशन – कुल लागत : 25.3 करोड़
3. गोधनी स्टेशन – कुल लागत : 28.9 करोड़
4. बल्लारशाह स्टेशन- कुल लागत: 34.0 करोड़
5. चंद्रपुर स्टेशन- कुल लागत: 27.7 करोड़।
6. हिंगणघाट स्टेशन- कुल लागत: 23.7 करोड़।
7. सेवाग्राम स्टेशन- कुल लागत: 19.4 करोड़
8. धामणगांव स्टेशन- कुल लागत: 19.3 करोड़।
9. पुलगांव स्टेशन- कुल लागत: 17.9 करोड़.
10. जुन्नारदेव स्टेशन- कुल लागत: 25.4 करोड़
11. घोड़ाडोंगरी स्टेशन- कुल लागत: 18.9 करोड़
12. बैतूल स्टेशन- कुल लागत: 24.9 करोड़
13. अमला स्टेशन- कुल लागत: 31.7 करोड़
14. पांदुरना स्टेशन- कुल लागत: 16.7 करोड़
15. मुलताई स्टेशन- कुल लागत : 17.5 करोड़

*अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत किए जाने वाले कार्य और सुविधाओं का विवरण इस प्रकार हैं:
• यातायात संचालन में सुधार और सर्कुलेटिंग एरिया का सौंदर्यीकरण,
• बेहतर और वृहत प्रवेश द्वार का प्रावधान,
*• उच्च स्तरीय प्लेटफार्म और प्लेटफार्म पर अतिरिक्त कवर (सेल्टर) का प्रावधान,
• स्टेशन भवन के अग्रभाग और ऊंचाई में सुधार,
• शौचालयों की स्थिति में सुधार,*
*• अच्छी गुणवत्ता वाले टिकाऊ फर्नीचर के साथ एक्जीक्यूटिव लाउंज, वेटिंग रूम
का प्रावधान,*
*• रैंप/लिफ्ट/एस्केलेटर के साथ 12 मीटर चौड़े सेंट्रल एफओबी का प्रावधान।*
*• दूसरे प्रवेश द्वार में सुधार,
• स्टेशन परिसर में बेहतर प्रकाश व्यवस्था,
• सर्कुलेटिंग एरिया के चारों ओर सुंदर डिज़ाइन किए गए होर्डिंग (साइनेज) का प्रावधान,
• स्टेशन परिसर में उचित रूप से डिज़ाइन किए गए साइनेज,
• स्टेशन तक पहुचने वाले मुख्य मार्गों का चौड़ीकरण,
• सुनियोजित पार्किंग एरिया,
• ट्रेन इन्डिकेटर बोर्ड और कोच मार्गदर्शन (गाइडेंस) प्रणाली, दृश्य प्रदर्शन इकाइयों और घोषणा प्रणाली का प्रावधान,
• दिव्यांगजन सुविधाओं का प्रावधान,
• औपचारिक झंडे,
• एलईडी स्टेशन नाम बोर्ड,
• भूदृश्य निर्माण और हरित क्षेत्रों का विकास आदि*
*अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत विभिन्न कार्यों का निष्पादन गति शक्ति यूनिट को सौंपा गया है, योजना के तहत सोलापुर मंडल पर विभिन्न विकासात्मक कार्यों को पहले ही मंजूरी दे दी गई है और निष्पादन के लिए एजेंसियों को नियुक्त किया जा रहा है।* *माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शिलान्यास समारोह 6 अगस्त 2023 को इनमें से प्रत्येक स्टेशन पर आयोजित करने की योजना है।*
*दिनांक 06.08.2023 को संबंधित स्टेशनों पर होने वाले समारोह में माननीय सांसद और विधायक, पद्म पुरस्कार विजेता, स्वतंत्रता सेनानी, राज्य प्रशासन के अधिकारी, बैंक और डाक अधिकारी और स्कूली बच्चे, गैर सरकारी संगठन आदि सम्मिलित होंगे। संबंधित शहरों में विभिन्न स्कूल निबंध और ड्राइंग प्रतियोगिताओं का आयोजन भी करेंगे।* *प्रतियोगिता के विजेताओं को गणमान्य व्यक्तियों द्वारा पुरस्कार दिये जायेंगे।* *सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया है जिसके बाद गणमान्य व्यक्तिय सभा को संबोधित करेंगे। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत स्टेशन के पुनर्विकास के बाद के स्वरूप को दर्शाने वाला एक वीडियो भी दिखाया जाएगा। माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी 11:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभा को संबोधित करेंगे।*
*प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 6 अगस्त, 2023 को ‘अमृत भारत स्टेशन योजना’ के तहत 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास आधारशिला रखेंगे।*
*भुसावल मंडल के 6 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की आधारशिला रखी जाएगी !*
*रेल मंत्रालय ने रेलवे स्टेशनों के प्रमुख उन्नयन के लिए नीति तैयार की है जिसमें विभिन्न रेलवे स्टेशनों के पूर्ण पुनर्विकास, रूफ प्लाजा के प्रावधान के साथ-साथ सिटी सेंटरों के निर्माण की परिकल्पना की गई है। जबकि सिटी सेंटर और रूफ प्लाजा का निर्माण स्टेशनों के विकास का अंतिम लक्ष्य है, यह आवश्यक है कि स्टेशनों पर विकास धीरे-धीरे व्यय के न्यूनतम दोहराव के साथ इस दिशा में आगे बढ़े।* *उपरोक्त को ध्यान में रखते हुए, स्टेशनों के आधुनिकीकरण के लिए “अमृत भारत स्टेशन योजना” नामक एक नई नीति की परिकल्पना की गई है।*
*अमृत भारत स्टेशन योजना दीर्घकालिक दृष्टि से निरंतर आधार पर स्टेशनों के विकास की परिकल्पना पर आधारित है। यह लंबी अवधि के लिए मास्टर प्लानिंग और स्टेशन की जरूरतों और संरक्षण के अनुसार मास्टर प्लान के तत्वों के कार्यान्वयन पर आधारित है।* इस योजना का मुख्य लक्ष्य हितधारकों की आवश्यकताओं को पूर्ण करना और नई सुविधाओं के आरंभ के साथ-साथ मौजूदा सुविधाओं के उन्नयन और प्रतिस्थापन को पूरा करना होगा। अमृत भारत स्टेशन योजना आम तौर पर समय-समय पर स्वीकृत ग्राहक सुविधा योजना मद के लिए विभिन्न व्यापक कार्यों के माध्यम से क्रियान्वित की जाएगी।*
*अमृत भारत स्टेशन योजना के अंतर्गत प्रदान किए जाने वाले कार्य और सुविधाओं आदि का विवरण इस प्रकार है :
• यातायात संचालन में सुधार और सर्कुलेटिंग एरिया का सौंदर्यीकरण,
• बेहतर और वृहत प्रवेश द्वार का प्रावधान,
• उच्च स्तरीय प्लेटफार्म और प्लेटफार्म पर अतिरिक्त कवर (सेल्टर) का प्रावधान,
• स्टेशन भवन के अग्रभाग और ऊंचाई में सुधार,
• शौचालयों की स्थिति में सुधार,
• अच्छी गुणवत्ता वाले टिकाऊ फर्नीचर के साथ एक्जीक्यूटिव लाउंज, वेटिंग रूम
का प्रावधान,
• रैंप/लिफ्ट/एस्केलेटर के साथ 12 मीटर चौड़े सेंट्रल एफओबी का प्रावधान।
• दूसरे प्रवेश द्वार में सुधार,
• स्टेशन परिसर में बेहतर प्रकाश व्यवस्था,
• सर्कुलेटिंग एरिया के चारों ओर सुंदर डिज़ाइन किए गए होर्डिंग (साइनेज) का प्रावधान,
• स्टेशन परिसर में उचित रूप से डिज़ाइन किए गए साइनेज,
• स्टेशन तक पहुचने वाले मुख्य मार्गों का चौड़ीकरण,
• सुनियोजित पार्किंग एरिया,
• ट्रेन इन्डिकेटर बोर्ड और कोच मार्गदर्शन (गाइडेंस) प्रणाली, दृश्य प्रदर्शन इकाइयों और घोषणा प्रणाली का प्रावधान,
• दिव्यांगजन सुविधाओं का प्रावधान,
• औपचारिक झंडे,
• एलईडी स्टेशन नाम बोर्ड,
• भूदृश्य निर्माण और हरित क्षेत्रों का विकास आदि
प्रत्येक स्टेशन के पुनर्विकास का कार्य और आवश्यकताओं को तय करते समय माननीय सांसदों/विधायकों, प्रवासी संगठनों, डीआरयूसीसी सदस्यों और यात्रा करने वाले यात्रियों के सुझावों को भी ध्यान में रखा गया है।

अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत भारतीय रेलवे के 1309 स्टेशनों को पुनर्विकास के लिए नामित किया गया है। इसमें भुसावल मंडल के 15 स्टेशनों सहित मध्य रेल के 76 स्टेशन सम्मिलित हैं। भुसावल मंडल के बडनेरा, मलकापुर, मुर्तिजापुर, नेपानगर, शेगांव, देवलाली, मनमाड, नंदुरा, नंदगांव, चालीसगांव, पचोरा, धुले, लासलगांव, रावेर और सावदा स्टेशनों को योजना के तहत पुनर्विकास के लिए नामित किया गया है। मध्य रेल के लिए, प्रथम चरण- में उक्त योजना के अंतर्गत विभिन्न कार्यों को निष्पादित करने के लिए वर्ष 2023-24 में भुसावल मंडल के लिए 184 करोड़ रुपये सहित 1720 करोड़ रुपये की धनराशि प्रदान की गई है, जिसके पुनर्विकास का कार्य एक वर्ष के भीतर पूर्ण होने की उम्मीद है। योजना के अंतर्गत प्रस्तावित कार्यों की लागत का स्टेशनवार विवरण इस प्रकार है:
मनमाड जंक्शन 44.8 करोड़
बडनेरा 36.0 करोड़
चालीसगांव 34.7 करोड़
शेगांव 28.8 करोड़
नेपानगर 21.0 करोड़
मलकापुर 18.5 करोड़

अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत विभिन्न कार्यों का निष्पादन गति शक्ति यूनिट को सौंपा गया है, योजना के तहत भुसावल मंडल पर विभिन्न विकासात्मक कार्यों को पहले ही स्वीकृति दे दी गई है और निष्पादन के लिए एजेंसियों को नियुक्त किया जा रहा है। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत 508 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास के लिए माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से शिलान्यास समारोह 6 अगस्त 2023 को, उक्त प्रत्येक स्टेशन पर किया जाएगा। इस समारोह की योजना मध्य रेल के 38 स्टेशनों पर बनाई गई है, जिसमें भुसावल मंडल के 6 स्टेशन यानी मनमाड जंक्शन, बडनेरा, चालीसगांव, शेगांव, मलकापुर और नेपानगर शामिल हैं।

दिनांक 06.08.2023 को संबंधित स्टेशनों पर होने वाले समारोह में माननीय सांसद और विधायक, पद्म पुरस्कार विजेता, स्वतंत्रता सेनानी, राज्य प्रशासन के अधिकारी, बैंक और डाक अधिकारी और स्कूली बच्चे, गैर सरकारी संगठन आदि सम्मिलित होंगे। संबंधित शहरों में विभिन्न स्कूल निबंध और ड्राइंग प्रतियोगिताओं का आयोजन भी करेंगे। प्रतियोगिता के विजेताओं को गणमान्य व्यक्तियों द्वारा पुरस्कार दिये जायेंगे। एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया है जिसके बाद गणमान्य व्यक्तिय सभा को संबोधित करेंगे। अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत स्टेशन के पुनर्विकास के बाद के स्वरूप को दर्शाने वाला एक वीडियो भी दिखाया जाएगा। माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी 11:00 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से सभा को संबोधित करेंगे।*