बीजेपी हाईकमान से अवधेश चंद्र गुप्त को प्रत्याशी बनाये जाने की मांग !

25

*प्रयागराज / श्री विनयजी मिश्र द्वारा साभार प्राप्त*

*भारतीय जनता पार्टी के पुराने समर्पित और निष्ठावान कार्यकर्ताओं की यह मांग है कि आगामी नगर निगम के होने वाले चुनाव में महापौर पद के लिए पार्टी के पुराने जुझारु संघर्षशील कार्यकर्ता, पूर्व महानगर अध्यक्ष, काशी प्रांत के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष श्री अवधेश चंद्र गुप्ता को पार्टी का टिकट दिया जाए ।*
*कार्यकर्ताओं ने बीजेपी हाईकमान से आग्रह किया है कि दूसरी पार्टी से आए हुए अवसरवादी लोगों को पार्टी का टिकट दिए जाने के कारण दल के प्रति समर्पित पुराने कार्यकर्ताओं में असंतोष उत्पन्न हो रहा है ।*
*आगामी लोकसभा चुनाव में पूर्ण सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि ऐसे लोगों को प्रत्याशी बनाया जाए । जो पार्टी के पुराने कार्यकर्ता हों। जिनका व्यक्तित्व निर्विवाद हो ।*
*दल के पूर्णकालिक समर्पित कार्यकर्ताओं का यह मानना है कि भारतीय जनता पार्टी के उत्थान के पीछे पार्टी के उन समर्पित कार्यकर्ताओं के त्याग और तपस्या का योगदान है । जिन्होंने अपनी मेहनत से पार्टी को खड़ा किया और अपने खून पसीने से सींच कर संगठन को पुष्पित और पल्लवित किया है। कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि श्री राम मंदिर निर्माण आंदोलन, रामशिला पूजन से लेकर मोदी जी के प्रधानमंत्री बनाने में जिन लोगों का महत्वपूर्ण योगदान रहा है । उन्हें उपेक्षित न किया जाए ।*
*एक समय उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के कार्यकाल के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज होता था । उनका दमन और उत्पीड़न किया जाता था । तो उस समय कार्यकर्ताओं के हितों के लिए सबसे आगे बढ़ चढ़कर अवधेश गुप्ता ही सबसे आगे सबके साथ खड़े दिखाई देते थे । पार्टी के सभी कार्यक्रमों और कार्यकर्ताओं के लिए वे सदैव उपलब्ध रहते हैं ।*
*इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ भवन में वर्तमान मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी का कई वर्ष पूर्व एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था । उस कार्यक्रम का सपा और बसपा के लोग विरोध कर रहे थे । उस समय योगी आदित्यनाथ जी के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अवधेश चंद्र गुप्त सबसे आगे आए ।* *इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ भवन पर उनकी पुलिस से झड़प भी हुई थी। लाठीचार्ज में वे घायल भी हो गए थे । लेकिन सपा सरकार के दमन चक्र के आगे वे झुके नहीं ।*
*मोदी जी व योगी जी के कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए वे पूरे शहर में पदयात्रा किया करते हैं ।*
*प्रयागराज में जिस समय श्री अवधेश चंद्र गुप्त को महानगर अध्यक्ष बनाया गया था । उस समय यहां सपा और बसपा का बोलबाला था । भारतीय जनता पार्टी को मजबूत करने के लिए अवधेश चंद्र गुप्त ने बहुत ही अथक परिश्रम किया । कार्यकर्ताओं का तो यहां तक कहना है कि मोदी जी के कार्यक्रमों को सफल बनाने के लिए वह पूरी ताकत झोंक देते हैं । बल्ली से लेकर झंडा पोस्टर लगवाने में सबसे आगे आगे रहते हैं ।*
*जिस समय महानगर प्रयागराज में भाजपा बहुत कमजोर थी । ऐसे संकटकाल में उन्होंने पार्टी के लिए बहुत मेहनत की और उनकी अध्यक्षता में भारतीय जनता पार्टी प्रयागराज की सबसे बड़ी पार्टी बनी । नगर में सबसे अधिक विधायक और सांसद उन्हीं की अध्यक्षता में निर्वाचित हुए ।*
*अवधेश चंद गुप्ता के बारे में एक बात यह भी बहुत महत्वपूर्ण है कि उनका व्यक्तित्व निर्विवाद, सहज एवं अविवादित है । पार्टी के कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि भारतीय जनता पार्टी को जिन कार्यकर्ताओं ने अपनी मेहनत से खड़ा किया । अब उन कार्यकर्ताओं को आगे लाने का मौका है ।*
*भारतीय जनता पार्टी की बढ़ती हुई लोकप्रियता को देखते हुए बहुजन समाजवादी पार्टी और समाजवादी पार्टी तथा कांग्रेस पार्टी छोड़कर जो लोग भाजपा में आए हैं । ये लोग अपने निजी स्वार्थ की वजह से बीजेपी में है । ऐसे स्वार्थी तत्वों का भाजपा से कोई लगाव नहीं है । जैसे ही मौका मिलेगा । तो वे तुरंत पार्टी छोड़कर दूसरी पार्टी में चले जाएंगे । अवसरवादी तत्वों को पार्टी और संगठन में महत्व देने तथा उन्हें चुनाव में टिकट दिए जाने के कारण पार्टी के पुराने कार्यकर्ता पार्टी से दूर होते जा रहे हैं ।*
*प्रयागराज में तो यह हालत है कि दूसरे दलों से आए हुए लोग पुराने भाजपा कार्यकर्ताओं के ऊपर शासन करना चाहते हैं । जबकि इन्हीं पुराने कार्यकर्ताओं के त्याग और समर्पण की वजह से पार्टी को सफलता मिली है । सन 2024 लोकसभा चुनाव में पार्टी को सफलता प्राप्त करना है तो उसे फिर से अपने मूल काडर पुराने कार्यकर्ताओं की ओर लौटना होगा । जिन कार्यकर्ताओं की बदौलत पार्टी को सफलता मिली । उन पुराने कार्यकर्ताओं को चुनाव में टिकट देने का वक्त आ गया है ।*
*महापौर पद के लिए श्री अवधेश चंद्रगुप्त का नाम प्रमुखता से इसलिए भी सबसे आगे चल रहा है । क्योंकि वे बहुत ही धार्मिक व आध्यात्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति हैं । श्री हरिहर गंगा आरती समिति के माध्यम से वे धार्मिक कार्यक्रमों में हमेशा आगे रहते हैं । माघ मेला, कुंभ मेला एवं अन्य सभी धार्मिक आयोजनों में शुरू से ही वे सक्रिय रहे हैं । श्री अवधेश चंद्र गुप्त के प्रयासों की वजह से संगम की गरिमा को एक नया मुकाम मिला । उन्होंने प्रयागराज के गौरव को बनाए रखने के लिए बहुत से ऐतिहासिक कार्य किए हैं। समय-समय पर संगोष्ठी, सभा और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किए जाने की पूरे क्षेत्र में हमेशा चर्चा बनी रहती है । धार्मिक पृष्ठभूमि सशक्त होने के कारण प्रयागराज ही नहीं अयोध्या और मथुरा के साधु संत महात्माओं का भी अवधेश चंद्रगुप्त को आशीर्वाद प्राप्त है।*
*प्रयागराज की सीट जब ओबीसी के लिए आरक्षित हुई तो अवधेश चंद्र गुप्ता जी का नाम सबसे आगे चल रहा था और वे अभी भी सबसे मजबूत दावेदार माने जा रहे हैं। सामान्य सीट होने के बाद अब अन्य और कई दावेदार सामने आ रहे हैं । लेकिन पार्टी कार्यकर्ताओं का यह कहना है कि अवधेश चंद्रगुप्त ओबीसी समाज से भले ही हो । लेकिन अगडे समाज के नेताओं के मुकाबले पार्टी के लिए वे दिन-रात अथक परिश्रम करते रहते हैं । महापौर पद के लिए उनका दावा सबसे मजबूत है ।*
*शहर में इस बात की भी चर्चा है कि जो लोग पार्टी का टिकट पक्का मानकर चल रहे हैं । वे मौकापरस्त और अवसरवादी लोग हैं । ऐसे तत्वों से पार्टी को सावधान रहना चाहिए । विवादित लोगों को अगर चुनाव में टिकट दिया गया तो पार्टी को भारी नुकसान भी हो सकता है ।*
*पिछले दिनों कई ऐसे मामले प्रकाश में आए । जिनको लेकर काफी विवाद चल रहा है ।* *विवादित लोगों को टिकट नहीं मिलना चाहिए । अवधेश चंद्रगुप्त के बारे में कार्यकर्ताओं की यह राय है कि वे पार्टी के प्रति तन मन धन से समर्पित पुराने निष्ठावान कार्यकर्ता हैं । उनको पार्टी के द्वारा महापौर पद का टिकट दिए जाने से उसका असर पूरे प्रदेश में पड़ेगा । पार्टी के जो पुराने निष्ठावान कार्यकर्ता हैं । उनके मन में नई आशा का संचार होगा ।* *कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ेगा और इसका सबसे अधिक लाभ 2024 के लोकसभा चुनाव में पार्टी को होगा । प्रयागराज में पार्टी के सबसे पुराने समर्पित कार्यकर्ताओं में उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य जी का नाम बड़े गर्व से लिया जाता है । सूत्रों का कहना है कि केशव मौर्य जी चाहते हैं कि अवधेश चंद गुप्ता को ही पार्टी की ओर से महापौर पद का प्रत्याशी बनाया जाए ।*
*सूत्रों का यह भी कहना है कि*
*आज से 5 साल पहले जो लोग प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी तथा अन्य बीजेपी नेताओं के बारे में अनर्गल बातें करते थे । ऐसे दलबदलू लोग पार्टी के हितैषी कभी नहीं हो सकते।* *कार्यकर्ताओं का यह मानना है कि उत्तर प्रदेश में इस समय भाजपा की लहर चल रही है । महापौर पद के चुनाव में जिसे भी पार्टी का टिकट मिलेगा । उस प्रत्याशी की जीत सुनिश्चित है । सपा, बसपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों का दूर-दूर तक कोई अता पता नहीं है और चुनाव के समय जो खड़े भी होंगे ।*
*वे भाजपा प्रत्याशी को टक्कर दे पाएंगे या नहीं । यह भविष्य के गर्भ में छिपा है । लेकिन पार्टी के पुराने और समर्पित कार्यकर्ताओं की ओर से अवधेश चंद्रगुप्त का समर्थन किए जाने का प्रमुख कारण यह भी है कि लोग चाहते हैं कि पार्टी को पहले से और अधिक बेहतर और मजबूत बनाया जाए । यह कार्य पुराने और समर्पित कार्यकर्ता ही कर सकते हैं । दूसरे दलों से आयातित लोग नहीं ।*
*पार्टी कार्यकर्ताओं का यह मत है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश का चतुर्दिक विकास हो रहा है । प्रदेश की तरक्की को एक नई गति मिली है ।*
*योगी जी की लोकप्रियता के कारण उत्तर प्रदेश में बीजेपी स्थानीय निकाय चुनाव में ऐतिहासिक विजय हासिल करेगी । पार्टी कार्यकर्ताओं का मानना है कि भारतीय जनता पार्टी की इस ऐतिहासिक जीत में चार चांद लगाने के लिए अवधेश चंद्र गुप्त जैसे कार्यकर्ताओं की जरूरत है । जो बिना किसी स्वार्थ के शुरू से ही पार्टी के साथ जुड़े रहे हैं ।*
*पार्टी नेताओं की राय है कि अवधेश चंद्रगुप्त को महापौर पद का टिकट दिए जाने से पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल ऊंचा होगा । पार्टी को एक नई गति मिलेगी । कार्यकर्ताओं में नए उत्साह का संचार होगा । टिकट के लिए दावेदारी तो बहुत से लोग कर रहे हैं । सभी के नामों पर विचार भी चल रहा है । सूत्रों का कहना है कि योगी सरकार के साथ रहकर योगी सरकार के खिलाफ भीतरघात करने वाले विवादित लोग कभी पार्टी का भला नहीं कर सकते । भारतीय जनता पार्टी की शुरू से ही यह रणनीति रही है कि पार्टी के चुनाव में ऐसे लोगों को टिकट दिया जाए । जो विवादित न हों ।*
*भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की नैतिकता और आदर्श का एक अपना पुराना गौरवशाली इतिहास रहा है । पैसे के बल पर जनता के ऊपर रोब जमाने वाले अवसरवादी दलबदलू स्वार्थी तत्वों से पार्टी को बचाना सबसे जरूरी है ।*
*सूत्रों का कहना है कि ऐसे किसी भी व्यक्ति या उसके परिवारी जन को टिकट न दिया जाए । जिनका माफियाओं,अपराधियों, गुंडों से संबंध हो ।*
*पार्टी जब कमजोर थी । सड़क पर कार्यकर्ता ढूंढे नहीं मिलते थे । ऐसे वक्त पर पार्टी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर एक समर्पित सिपाही की तरह कार्य करने वाले पार्टी के पुराने वफादार, कर्मठ कार्यकर्ता श्री अवधेश चंद्र गुप्त को टिकट मिलेगा तो उनकी जीत सुनिश्चित है और पुराने समर्पित कार्यकर्ताओं को पार्टी का टिकट दिए जाने से पार्टी का जनाधार भी बढ़ेगा ।*
*अमृतकाल में अमृततुल्य पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को मिलना चाहिए मौका !*
*बीजेपी को जीत दिलाएंगे निष्पक्ष, निर्विवाद महापौर प्रत्याशी अवधेश चंद्र गुप्त !*