🔜 फुटपाथ पर दुकानदार द्वारा किये गये अतिक्रमण के चलते मूल के गांधी चौक में किसीभी वक्त हो सकता है जानलेवा हादसा ❗नगर परिषद और पुलिस की चुप्पी समझसे परे ❓🔚

66

*गडचिरोली – नागपुर रोडसे गांधी चौकसे सीधे हाथ के टर्निंग पर बाजार -सोमनाथ रोडपर वाहन मोड़ते वक्त या बाजार -सोमनाथ रोडसे बाईं तरफ वाहन मोडते वक्त फुटपाथ पर किराना दुकानदार ने मेन रोडतक अपनी दुकानसे करीब बीस – पच्चीस फिट लंबा अतिक्रम करके रोडपर लोहे के एंगल टिनके शेड डालकर कब्जा जमा लिया है और दुकान का सब सामान उस शेडके नीचे इस तरहसे टांगता है के रहदारी भरे ट्रैफिक वाले रास्तेसे कोई भी वाहन नही दिखाई देते ! जिसके चलते किसीभी वक्त भयानक हादसा हो सकता है और टूव्हीलर या फोरव्हीलर से एक्सीडेंट में किसीकी जान जा सकती है ❗*
*एकतो गांधी चौक के स्ट्रीट सिग्नल शो पीस बने हुवे है ❓दूसरे कोई ट्रैफिक सिपाही नजर नही आते❓ सबेरे से स्कूल कॉलेज जाने वाले बच्चे नवजवान छात्र टूव्हीलरों से ऑटो से साइकिलों से जाते आते हैं दूसरे इस रास्तेपर बड़े बड़े ट्रक बसेस ट्रैक्टर अंदाधुंद दौड़ते है उपरसे इस दुकानदार के कारण टर्न होनेवाले कोई भी वाहन किसीभी वक्त टकराकर प्राणहानी होनेकी संभावना से इनकार नहो किया जा सकता ! वैसे भी इस रास्तेपर उपलेटा हॉटेल के सामने और आशीष प्लाई के सामने दो भयानक हादसे हो चुके हैं ,जिसमे दो लोग ऑनस्पॉट जान गंवा चुके हैं जीसमें एक रिटायर्ड पुलिस भी था !*
*यहां की ट्रैफिक पुलिस को एंट्रियाँ लेनेसे ही फुर्सत नही मिलती ! अवैध परिवहन बसेस की राज्य परिवहन के बस अड्डेके ठीक सामनेही सभी क़ानूनोंको ताकपर रखकर भीड़ लगी रहती है ! जबके बस स्थानकसे करीब 200 मीटर दूर खाजगी वाहन खड़े करने का नियम होते हुवे भी बिल्कुल बस स्थानक के गेटके सामनेही यह बसेस लगाकर सवारियाँ भरी जाती है वह भी अवैध परिवहन सेवा के ⁉️*
*एकतो रातके समय ओव्हर लोडेड दस पहिया , सोलह पहिये ट्रक चलते हैं और इतनाही नही तो अवैध प्रतिबंधित गुटका तंबाकू माज़ा के छत्तिसगढ़ से चंद्रपुर जानेवाले गुटका माफ़ियाओंके ट्रक सरेआम धडल्लेसे व्हाया मूल जाते है ! उसीसे डी बी स्कॉड हो या ट्रैफिक वाले हो फुर्सत मिले तो गांधी चौक की जानलेवा भीड़भरी ट्रैफिक और फुटपाथों का अतिक्रमण हटायेंगे ना ❓*
*नगर परिषद के स्टॉफ का भी यही हाल है ❓ उन्हेंभी मूल के गट्टू वाले रास्तों के फुटपाथों पर किया गये टिनके शेडोंके अतिक्रमण दिखाई नही देते ❓पैदल चलने वाले बच्चे बूढ़े इन अतिक्रमनोके चलते ट्रैफिक वाले बीच रास्ते से चलने को मजबूर हैं ! सब जेबे गर्म करनेमे मस्त है एक्सीडेंट्स में कोई मरे या जिये उससे इन्हें क्या सरोकार ⁉️*