मूल तहसील के हर शहर – गाँव मे बेची जा रही है देशी विदेशी शराब साथही बिक रही है आंध्र की नकली शराब

172

ब्यूरो चीफ अशरफ भाई मिस्त्री ✍️

मूल शहर में सरकार मान्य लायसेंस प्राप्त देशी विदेशी शराब दुकानों को जो शराब बिक्री के लायसेंस दिये गये है , वह सिर्फ दुकानमें ही शराब बेचने की अनुमति के शर्त के तहत दिये गये है !
लेकिन आश्चर्य इस बातका है कि पूरे मूल तहसील के कई गाँव में लायसेंसी सरकरमान्य शराब दुकान नही होनेपर भी उन गांवों में भी मूल से अवैध शराब के बक्से हर रोज पहोच रहे हैं और सरेआम धडल्लेसे देसी विदेशी शराब बिक रही है !
इतनाही नही तो सावली -गडचिरोली जिलेके कई गांवोंमें तक अवैध शराब मूल से ही सप्लाई हो रही है ! गडचिरोली जिलेके और सावली तहसील के जिन गावों में लायसेंसी शराब दुकाने नही है वहांभी बेरोकटोक अवैध शराबसरेआम बेची जा रही है!
इतना ही नही तो दूसरे जिलेमें ,सावली तहसील से पुरे मूल तहसील में और गोंडपिपरी ,पोंभुर्णा , तक अवैध शराब पहोचाने वाला शातिरदिमाग सरगना आंध्र से नकली देसी विदेशी शराब तक अपनी कारोसे लाकर सरेआम बेख़ौफ़ सप्लाई कर रहा है !
यह नकली शराब किसीभी वक्त शराब शौकीनों के लिये जानलेवा साबित हो सकती है ! जिलेका एक्साईज विभाग , एल सी बी वाले पता नही क्यों ? आंखों पर पट्टी बांधे मूकदर्शक बने बैठे हैं ?